Bujho To Jane Whatsapp Paheliya Top 59

Bujho To Jane Whatsapp Paheliya – Ajj Ham Yaha Kuchh Paheliay Diye Hue Hai Jo Apko Achhi Lagegi Agar Achha Lagta Hai To Ap ise dusre Ke Sath Share Jarur Kare.

Bujho To Jane Whatsapp Paheliya
Bujho To Jane Whatsapp Paheliya

1.एक पेड़ में एक ही पत्ती,ओ भी रंग बिरंग।
करते सभी नमन हैं उसको,मन मे भरे उमंग।।
उत्तर-झंडा।

2.तीन आंख है उसके फिर भी,रहता तीनों बन्द।
अंदर सरोवर भरा कहाँ से,मेढ़ है सादा रंग।।
उत्तर-नारियल।

3.एक महल के दो दरवाजा ,खुलता एक ही संग।
कमरा नही और माल रखा है,फिर भी सुरक्षित अत्यंत।।
उत्तर-सीपी।

4.एक चले चिता के चाल, दूजा घोड़ा होय।
तीसर चले हाथी के चाल, फिर भी सामना होय।।
उत्तर-घड़ी।

5. न तो खड़े जमीन में, न ऊपर कोई सहारा।
कारण बनता कभी शीतल छांव का,कभी मुसला धार बहाया।।
उत्तर-बादल।

6.मामा जी के नौ सौ गाय,
रात चराये दिन बांध दिया जाय।
उत्तर-तारे।,

7.नहीं किसी का हानि करवाता,
बराबर बंटवारा करके देता।
उत्तर-तराजू।,

8.कौन गली,कौन खेत पहाड़ी, खड़ा रहता हूँ सीना तान।
मेरे से है जग उजियारा, सब मौसम मेरा एक समान।
उत्तर- बिजली खम्भा।

9.साँप जैसे लम्बा हूँ भैया, दोनो तरफ हूँ चलता।
एक ही पथ पर आता जाता,हरदम आगे बढ़ता।।
उत्तर-रेल।

10 एक पैर पर खड़ा हूँ रहता ,ताने सिर पर छतरी।
सब्जी कहलाता हूँ मजेदार,बूझो तो मिस्टर खतरी।।
उत्तर-मशरूम।

Bujho To Jane Whatsapp Paheliya Top 50+

Bujho To Jane Whatsapp Paheliya
11.बिजली कौंधी आसमान में,गर्जन दिल धड़काए।
छायी घटाएं छम छम नाचे, गोपियन को लुभाए।।
उत्तर- मोर।

12.शाम होते जब तन थक जाए,निंदिया रानी लगी बुलाने।
मन बावरा दर-दर भटके,चली फिर कहाँ कहाँ घुमाने।।
उत्तर-सपना।,

13.पल में आए पल में जाए,तपन-शीतल का अहसास कराए।
उत्तर-धूप-छाया।

14.पंख मेरी पर चिड़िया नही ,फिर भी सफर कर जाती हूँ।
पानी से है मेरी दुनिया,बिन पानी मर जाती हूँ।।
उत्तर-मछली।

15.काली काली दिखती हूँ पर सबके मन को भाती हूँ।
कवि नही पर सब कहते हैं ,सुंदर गीत सुनाती हूँ।।
उत्तर-कोयल।

16.बांध गले मे फांसी का फंदा,
दबे हुए हैं मिट्टी के अंदर।
खाने को जब उसे उखाड़ो,मजे से लटक रहे हैं बन्दर।।
उत्तर-मूंगफली।

17.पिता पुत्र का एक ही नाम ,नवासा का नाम है औरे।
उत्तर-आम,आम पेड़ और उसका गुठली।

18.जितना रोये उतना खोए।
उत्तर-मोमबत्ती।

19.पांच कबूतर पांच ही रंग,घर मे घुसे तो एक ही रंग।
उत्तर-पान।

20.एक बतख के दो अंडा एक गर्म एक ठंडा।
उत्तर-सूरज- चाँद।

21.बत्तीस पीपल के एक ही पत्ती।
उत्तर-दांत और जीभ।

22.मैं हरी मेरे बच्चे काले,मुझे छोड़ बच्चे को खाए।
उत्तर-इलायची।

23.एक पहाड़ ऐसा भी,भरा है जिसमें पानी।
रखवाला उसका तीर चलाए, याद दिला दे नानी।।
उत्तर-छत्ता और मधुमक्खी।

24.रोज सवेरे समय पे आये,दिन में सबको राह दिखाए।
शाम होते ही सबके जैसे ,अपने घर को ओ चले जाए ।।
उत्तर-सूरज।

25.हल्दी के गोला रे भैया पीतल का लोटा,जो नई जाने इसको ओ बंदर का बेटा।
उत्तर-बेल का फल।

26-बीच तालाब में टेढ़ा वृक्ष।
उत्तर-झींगा।

27.लाल बैल बड़ा प्यारा लागे,पर टेढ़ा सींघ डराता है।
छूने को जब हाथ बढ़ाओ, हाथ नोच भगाता है।।
उत्तर-बेर और कांटा।

28.छोटा छोटा थैली ले के, घूमें जग में बाबा।
न तो अर्थ है न तो फेस है,फिर भी चमके ढाबा।।
उत्तर-जुगनू।

29.दो मुह फिर भी बन्द रहे, पेट रहे खाली ।मारो जब चाँटे से उसको ,
बोले फिर भी मीठी बोली।
Ans – ढोलक।

30.छेद है उसके अंग-अंग में ,फिर भी मन को भाए।
फूंक मारो जब उसके अंदर,मीठी तान सुनाए।।
उत्तर-बाँसुरी।

31.तीन पैर धरती खड़े,एक पैर चले आकाश।
बिन बादल के पानी बरसे,गुनी करो विचार।
उत्तर-?

32.ऐसा कौन सा वाहन है जो आपके ऊपर से चला जाता है फिर भी आपको कुछ नही होता है।
उत्तर-हवाई जहाज।

33.एक पक्षी रहे बिना शिर के, पंख रहे हजार।
उड़ न सके ओ फिर भी लगा रहे बाजार।।
उत्तर-किताब।

34.ओ कौन सी चीज है जिसको काटने पर लोग सोक मनाने के बजाय गाना गाते हैं।
उत्तर-केक।

35.छत्तीसगढ़ के बीच मे क्या है ?
उत्तर-‘ स’ है।

36.धरती अंदर पले बढ़े,और ऊपर हरियाली छाई।
सब्जी का वह स्वाद बढ़ाये,आपस मे चिपके सब भाई।।
उत्तर-लहसून।

37.एक फोटोग्राफर ऐसा जो बारिस होने पर ही फोटो खींचे।
उत्तर-बिजली।

38.हवा लगे सो मर जाऊं, धूप लगे सो जी जाऊं।
उत्तर-पसीना।

39.बिजली बंद हो या चालू हो,पम्प चलता है दिनरात।
कभी न रुकता कभी न थकता,न एक पल का आराम।।
उत्तर- फेफड़ा।

40.उस बादल का नाम बताओ जो दुख में बरसता है ही और सुख में भी बरसता है।
उत्तर-आँसू।

41.हरे रंग का चमड़ी ,लाल उसका मांस है।
खालो भैया जल्दी,गर्मी से बचने का चांस है।।
उत्तर-तरबूज।

42.कौन शहर कौन गॉव सब जगह,फिरता मारा मारा।
पल आऊँ पल में जाऊँ ,पास आना न चाहे कोई हमारा।।
उत्तर-विद्युत।

43.विद्या का मंदिर कहलाता,ज्ञान जहाँ हम पाते है।
क, ख, ग,घ पढ़ लिखकर,जीवन सफल बनाते हैं।।
उत्तर-पाठ शाला।

44.न तो पंख है न तो पैर है ,फिर भी चलता पानी में।
सबको उनका मंजिल पहुंचता,जिक्र भी आता कहानी में।।
उत्तर-नांव।

45.रंग-बिरंगे पँखोंवाली सबके मन को भाती है।
पास कभी ओ आती नही, दूर दूर उड़ जाती है।।
उत्तर-तितली।

46.छोटा बच्चा समझो न उसको,बहुत शैतानी करता है।
मौसी नही तो आराम से घूमें,मौसी को ही डरता है।।
उत्तर-चूहा।

47.मिट्टी से जन्म लिया हूँ, मिट्टी में मिल जाना।
पानी भरदो मेरे अंदर, शीतल जल फिर पाना।।
उत्तर-मटका।

48.नीचे अंडा ,ऊपर डंडा।
उत्तर-जिमीकंद।

49. बूझो मेरा नाम क्योंकि मेरे नाम में एक फूल और एक फल का नाम आता है,
पर मैं न तो फूल हूँ और न ही फल हूँ।।
उत्तर-गुलाबजामुन।

50.सजना बिन सब सुना, करूँ मैं तुम्हे पुकार।
चाँद की मद्धम रोशनी है, आ जाओ सरकार।।
उत्तर-चकवी पक्षी।

51.एक चले एक खड़े फिर भी दोनों संग।
उत्तर-चक्की।

53.एक घर, हजार बल्ब।
उत्तर-आकाश और तारे।

54.पेट है पेटू छत पर लेटूँ, तार का जाल बुनाया है।
उत्तर-मखना।

55.एक शहर रस से भरा, छूना चाहो तो तीर चुभा।
उत्तर-मधुमक्खी और छत्ता।

56.कोमल कन्या खतरों में पली ,आज जवान कल मरने लगी।
उत्तर-गुलाब।

57.जंगल में पेड़ घनघोर, रोज काटो चक-चक।फिर भी उगे फट-फट।।
उत्तर-दाढ़ी।

58.न तेरा न मेरा बंदे ,नहीं किसी का होता है।
हरदम आते जाते रहता ,हर काम उसी से होता है। .
उत्तर -रुपया।

59.जो खाये ओ पछताए ,जो न खाये ओ भी पछताए।
कहते सभी हैं ऐसा ,उसके बिना जीवन चल न पाए।।
उत्तर -विवाह।

Treading

#Chutkule

Padoshan Chutkula पड़ोसन - आपकी नई बहू कैसी है ? सास - बहुत मेहनत करती है, इतनी गर्मी में भी दिन-रात लगी रहती है, कैंडी क्रश के 452 लेवल पर पहुंच गई है। व्हाट्सएप पर 25 ग्रुप चलाती है, फेसबुक पर 5 हजार फ्रेंड और 10 हजार फॉलोवर हैं। 16 ग्रुप की एडमिन है और 36 पेज चला रही है। सोच रही हूं सुबह दूध के साथ बादाम देना शरू कर दूं और तरक्की करेगी।

More Posts